खुदबुद, खेल विज्ञान के; कागज़ के टुकड़े; भाग 35

खुदबुद, खेल विज्ञान के; कागज़ के टुकड़े; भाग 35
0

खुदबुद, खेल विज्ञान के; कागज़ के टुकड़े; भाग 35

कागज शिक्षक बन जाते हैं जैसे ही उत्साही बच्चों का एक समूह ज्यामिति की अद्भुत दुनिया का पता लगाने के लिए उसे मोड़ता है, काटता है और चिपकता है। मुड़ा हुआ एक तरफ़ा छल्ला, एक ही कागज़ से बने हुए बेलनाकार का चक्कर में ढलने वाला परिवर्तन, कागज़ को आठ बार से ज्यादा मुड़ने से इन्कार कर देता है! यह खेल और प्रायौगिक गतिविधि के माध्यम से शिक्षा के महत्त्व को जानने का मज़ेदार तरीका है। अपने सहज ज्ञान के साथ यह दर्शकों को वाह! कहने पर मज़बूर कर देगा!

https://files.metastudio.org/media/6/8/9/df12b7f600284301b779960897b3fd22c740e2770442cc768c47bff2a55ba.mp4

License: CC BY-SA
Source: Vigyan Prasar