खुदबुद, खेल विज्ञान के; तानो तो जानो, रबड़ बैंड; भाग 16

खुदबुद, खेल विज्ञान के; तानो तो जानो, रबड़ बैंड; भाग 16
0

खुदबुद, खेल विज्ञान के; तानो तो जानो, रबड़ बैंड; भाग 16

रबड़ बैंड, जो अपनी प्रकृति में ही लचीली होती है, जैसे ही हम उसे छोड़ते हैं वह अपने मूल आकर में वापस आ जाती है। इस कड़ी के माध्यम से बच्चे यह सीखने में सक्षम होंगे कि जब रबड़ बैड को खींचा जाता है तब अन्तर्निहित शक्ति कैसे उत्पन्न होती है और जब उसे छोड़ा जाता है तो कैसे गतिज ऊर्जा निकलती है।

https://files.metastudio.org/media/4/0/0/18c59df05ea5d71ab0ef800425beb9cddf0268f6b5a56f06fdf2607d70acf.mp4

License: CC BY-SA
Source: Vigyan Prasar