सपनों के से दिन; गुरदयाल

सपनों के से दिन; गुरदयाल

पिंकी और चिंटू दोनों नदी दर्शन करने पहुंचे हुए हैं। नदी के आस पास मनोहर दृश्यों को देख दोनों ही प्रसन्नचित्त हैं। अपनी प्रसन्नता बात रहे हैं दोनों वार्तालाप के माध्यम से।

License: CC-BY-SA 4.0 unported
Source: CIET, NCERT